निजी स्कॉर्पियो वाहन की ट्रक को रोक कर छानबीन का मामला.! – NANDED TODAY NEWS
You are here
Home > Daily News > निजी स्कॉर्पियो वाहन की ट्रक को रोक कर छानबीन का मामला.!

निजी स्कॉर्पियो वाहन की ट्रक को रोक कर छानबीन का मामला.!

Spread the love

NANDED TODAY:22,Sep,2021 नांदेड़ : नांदेड़-लोहा मार्ग पर एक ढाबे के पास एक स्कॉर्पियो वाहन ने ट्रक को रोक कर उसका निरीक्षण किया, इसकी सूचना मिलने पर सोनखेड पुलिस ने एक ट्रक को जब्त किया!

वृश्चिक राशि में मंडलियां भारतीय जनता पार्टी से संबद्ध सामाजिक संगठनों के पदाधिकारी हैं। सोनखेड पुलिस ने इस संबंध में तहसीलदार लोहा को पत्र भेजा है. बड़ा प्रश्न ये यह है कि क्या ऐसे संगठनों या पार्टियों के पदाघिकारियों को रुकने और पूछने का अधिकार है कि कौन से ट्रक है और कहा से आरहा है उसमे क्या माल है?

क्या सरकार ने ट्रक का निरीक्षण करने का अधिकार का गोवेर्मेंट रज़ुलेशन कभी पास क्या है जिसके आधार पर कोई भी किसी संघटना का पदाधिकारी आपने नाम व रुसुक का इस्तेमाल कर पोलिस और आरटीओ का काम खुद के फायदे के लिए कर सके!

ट्रक की छानबीन के मामले में सोनखेड पोलिस स्टेशन के सहायक पुलिस निरीक्षक महादेव मांजारामकर अपने साथियों के साथ 21,सेप्टैंबर की शाम पांच बजे से छह बजे तक लोहा सोनखेड रोड पर स्कॉर्पियो वाहन की तलाशी के लिए निकले थे.

उस जगह पर स्कॉर्पियो नंबर MH26 AK 3278 खड़ी थी। स्कॉर्पियो वहान के पिछले शीशे पर राणा शब्द लिखा हुआ है।

वही ट्रक MH26 AD 1339 भी खड़ा था ट्रक में कोई नहीं था। सहायक पुलिस निरीक्षक मांजारामकर ने स्कॉर्पियो कार में सवार लोगों से पूछा तो उनका नाम नरेंद्र सिंह हनुमान सिंह बैस (55), निवेश सलाहकार, जिला उपाध्यक्ष भटके मुक्ता जाति जमाती रा. जब इस वाहन के नंबर से आरटीओ एप पर जानकारी मिली तो इस वाहन के मालिक का नाम कपिल करवंडे दिखाया गया है।

इस बारे में जब सहायक पुलिस निरीक्षक महादेव मांजारामकर के प्रश्न पूछने पर उन्होंने बताया के स्कॉर्पियो वाहन में सवार लोगों ने ट्रक को रोका और उसकी रसीद मांगी. इसी सूचना के आधार पर हम वहां गए थे।

ट्रक को रुकने छानबीन करने वालो ने ट्रक में चावल मौजूद रहने जानकरी स्कॉर्पियो वाहन में सवार लोगों ने इसकी सूचना तहसीलदार लोहा को दी और ट्रक को जब्त कर अपनी पार्टी के वरिष्ठ सदस्यों को इसकी सूचना दी!

इसके बाद वरिष्ठ राजस्व अधिकारी ने इसकी सूचना तहसीलदार को दी। हम ऐसा पत्र तहसील कार्यालय को देंगे और आगे की कार्रवाई तहसील कार्यालय द्वारा की जायेगी!

क्या स्कॉर्पियो कार में सवार लोगों के पास यह अधिकार है? पूछे जाने पर महादेव मांजारामकर ने कहा कि ट्रक के मालिक या चालक के कहने के बाद अगला निर्णय लिया जाएगा।

Total Page Visits: 643 - Today Page Visits: 1

Spread the love

Leave a Reply

Top