अशोक चव्हाण को पागलों के दवाख़ाने में भेजना चाहिए, अशोक राव चव्हाण से मराठा आरक्षण उप-समिति की अध्यक्षता से तत्काल हटा देना चाहिए: सदाभाऊ खोत – NANDED TODAY NEWS
You are here
Home > Daily News > अशोक चव्हाण को पागलों के दवाख़ाने में भेजना चाहिए, अशोक राव चव्हाण से मराठा आरक्षण उप-समिति की अध्यक्षता से तत्काल हटा देना चाहिए: सदाभाऊ खोत

अशोक चव्हाण को पागलों के दवाख़ाने में भेजना चाहिए, अशोक राव चव्हाण से मराठा आरक्षण उप-समिति की अध्यक्षता से तत्काल हटा देना चाहिए: सदाभाऊ खोत

Spread the love

NANDED TODAY: 16,May,2021 नांदेड़ : महाराष्ट्र के कैबिनेट मंत्री तथा नांदेड़ ज़िले के पालक मंत्री मराठा आरक्षण को लेकर महाराष्ट्र मीडिया की सुर्ख़ियों में बने हुवे है! रयात क्रांति संगठन के अध्यक्ष और पूर्व मंत्री सदाभाऊ खोत ने कांग्रेस नेता और कैबिनेट मंत्री अशोक चव्हाण की तीखी आलोचना की है.सदाभाऊ खोत ने कहा की अशोक चव्हाण एक राजनेता हैं जो महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पद से कोतवाल बने हैं, वे मराठा समुदाय में स्थापित नेता हैं,

उनका मूल्य पागल अस्पताल में जाने का है। , मराठा आरक्षण उप-समिति की अध्यक्षता से अशोक राव चव्हाण को तुरंत हटा देना चाहिए!

राज्य में स्थापित और विस्थापित मराठा समुदाय में दो समूह हैं। इनमें से स्थापित राजनेता मराठा समुदाय को आरक्षण नहीं देना चाहते हैं। राज्य में कई वर्षों तक स्थापित मराठा नेताओं का शासन रहा है, उन्होंने कभी भी मराठा समुदाय को आरक्षण नहीं दिया। उल्टे किसी ने सारथी संस्था को बंद कर दिया। अन्नासाहेब पाटिल आर्थिक विकास निगम को राज्य योजना बोर्ड में विलय करने का क्या कारण है? यह सवाल सदाभाऊ खोत ने पूछा है।

महाविकास अघाड़ी सरकार शुरू से ही मराठा आरक्षण को लेकर बेफिक्र रही है। दरअसल, सरकार को कानूनी मामले को और मजबूत करने के लिए वकीलों की फौज नियुक्त करनी चाहिए थी। लेकिन वैसा नहीं हुआ। इसके उलट मराठा समुदाय के जख्मों पर नमक छिड़कने की कोशिश की जा रही है. वे जानते हैं कि राज्यपाल आरक्षण नहीं देंगे। फिर भी वे राज्यपाल से मिलते हैं। वे भगवान के निवास में नहीं जाना चाहते हैं,

वह सभी चोरों का नेता है। मराठा समुदाय के नाम पर कई लोग सरदारी का लुत्फ उठा रहे हैं, ये सरदार मराठा आरक्षण में बाधक हैं। उन्हें नीचे उतरना होगा। महाविकास अघाड़ी सरकार पर निशाना साधते हुए सदाभाऊ खोत ने कहा, ‘जब तक वे एक कदम आगे नहीं बढ़ते, तब तक मराठा आरक्षण मिलना मुश्किल है।

सदाभाऊ खोत ने मंत्री अशोक चव्हाण पर जोरदार हमला करते हुवे कहा कहा कि चव्हाण को अपने आदर्श प्रबंधन के कारण घर जाना पड़ा। जिस तरह से वह दो साल से मराठा आरक्षण के लिए काम कर रहे थे, उससे संदेह है कि क्या वह अफीम की गोलियां खाकर काम कर रहे थे।

उसे डंप करने और आगे बढ़ने का समय आ गया है। जिस तरह से वे भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल की आलोचना कर रहे हैं, उससे उपसमिति के अध्यक्ष का पद इस निष्क्रिय नेता को देना गलत है जो काम नहीं कर रहा है। इसलिए सदाभाऊ खोत ने मांग की है कि मुख्यमंत्री इसे तुरंत अपने पास से हटा दें

Total Page Visits: 617 - Today Page Visits: 3

Spread the love

Leave a Reply

Top